Google Doodle ने 155 वीं जयंती पर बंगाली कवि और कार्यकर्ता कामिनी रॉय को सम्मानित किया





 Google ने 155 वीं जयंती पर बंगाली कवि कामिनी रॉय को सम्मानित किया।
वे वर्ष 1864 में पैदा हुई थी। रॉय एक नारीवादी और सामाजिक कार्यकर्ता भी थीं।
रॉय "भारतीय इतिहास" में Honour के साथ स्नातक होने वाली पहली महिला हैं।
जिस समय में एक महिला की भूमिका गृह-गृहस्थी की देखभाल तक ही सीमित थी, उसी समय रॉय ने उच्च शिक्षा पूरी की और बेटहुन कॉलेज से संस्कृत में डिग्री हासिल की।

 वे एक बंगाली कवि थे। उनका उल्लेखनीय कार्य "अलो ओ छैया" है। उन्होंने समाज ओर साहित्य के लिए कई महान काम किए हैं। 27 सितंबर 1933 में उनकी मृत्यु हो गई थी। वे अपने महान साहित्य और महान.कार्यों के कारण हमेशा यादगार रहेंगी।