आज है धनतेरस : जानिए इसके बारें में कुछ बिशेष बातें

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस का पर्व मनाया जाता है।धार्मिक मान्यतानुसार, इस दिन नए बर्तन और सोना यां चांदी खरीदना शुभ होता है। धनतेरस के दिन मृत्यु के देवता यमराज और भगवान धनवंतरि की पूजा का विशेष महत्व है। दिवाली के 5 दिवसीय त्योहार में सबसे पहले दिन धनतेरस का पर्व आता है और इस तरह रोशनी के पर्व दिवाली की शुरुआत होती है। इस साल यह पर्व 25 अक्टूबर, शनिवार को मनाया जाएगा। धनतेरस के दिन सोना चांदी यां बर्तन आदि खरीदना शुभ माना जाता है।



हिन्दु शास्त्रों के अनुसार धनतेरस के दिन ही देवता धन्वंतरि, समुद्र मंथन में अमृत का कलश ले कर प्रकट हुए थे।

Dhanteras Puja Muhurat (धनतेरस पूजा मुहूर्त) :यह है धनतेरस का पूजा 

त्रयोदशी तिथि प्रारम्भ - अक्टूबर 25, 2019 को 07:08 पी एम बजे
त्रयोदशी तिथि समाप्त - अक्टूबर 26, 2019 को 03:46 पी एम बजे
प्रदोष काल - 05:43 पी एम से 08:16 पी एम
वृषभ काल - 06:51 पी एम से 08:47 पी एम
धनतेरस पूजा मुहूर्त - 07:08 पी एम से 08:16 पी एम

अवधि - 01 घण्टा 08 मिनट्स