DIWALI 2019 DATE: कब है दीपावली 2019, पूजा तिथियां

Diwali 2019 Date :- इस साल दीपों का त्योहार दीपावली 2019 अक्टूबर महीने की 27 तारीख को है. इस दिन के बारे में जानने को लोग अभी से ही उत्सुक हैं. दिवाली या दीपावली हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है. यह पर्व अंधेरे पर प्रकाश की जीत, असत्य पर सत्य की जीत, बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है. इस दिन लोग लक्ष्मी माता, गणेश जी और धन के देवता कुबेर की पूजा-अर्चना करते हैं.
हिंदू कैलेंडर के कार्तिक महीने के 15वें दिन यानी अमावस्या के अवसर पर दिवाली मनाई जाती है. दिवाली को समृद्धि और खुशियों का त्योहार माना जाता है, जिस दिन लोग अपने परिजनों के साथ घर को दीपों के साथ ही खुशियों से भी सजाते हैं और पकवान-मिठाई खाते हैं. इस दिन लोग अपने सगे संबंधियों को गिफ्ट और मिठाई बांटने के साथ ही गरीबों को भी खाना खिलाते हैं और उन्हें कपड़े देते हैं.

दीपावली का इतिहास (Diwali History)


इस त्योहार के मनाने के पीछे कई धार्मिक मान्यताएं हैं, जिनमें एक ये है कि जब भगवान श्रीराम लंका नरेश रावण को युद्ध में पराजित कर और उसके चंगूल से अपनी धर्म पत्नी सीता को आजाद कर 14 साल का वनवास भोग वापस अयोध्या लौटे थे, तब अयोध्या के लोगों ने अपने प्रिय राम और सीता माता के स्वागत में पूरे प्रदेश को दीपों से सजाया था. तब से दीपावली का त्योहार मनाया जाता है.
Diwali 2019
Diwali 2019 Date :- दिवाली लक्ष्मी पूजा 2019 शुभ मुहूर्त, टाइम और विधि (Diwali Lakshmi Puja 2019 Auspicious Muhurat, Time and Vidhi)
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त – शाम 7:15 से 8:36 तक
दिवाली गणेश लक्ष्मी पूजा समय- एक घंटे 20 मिनट
प्रदोश काल- शाम 6:04 से 8:36 बजे तक
वृषभ काल- शाम 7:15 से 9:15 तक
दिवाली लक्ष्मी चौघड़िया पूजा 2019 मुहूर्त
दोपहर शुभ पूजा मुहूर्त- 1:48 से 3:13 तक
शाम शुभ, अमृत, चार पूजा मुहूर्त – 6:04 से 10:48 तक
सुख-समृद्धि का त्योहार है दिवाली।दिवाली पूजा तिथियां :- 
दीपावली निश्चित तौर पर भारत में मनाया जाने वाला सबसे बड़ा हिंदू त्यौहार है। दीपावली को मनाया जाता है ‘दीप जिसका मतलब है रोशनी’ और ‘वली जिसका मतलब है पंक्ति’, अर्थात रोशनी की एक पंक्ति। दीपावली का त्यौहार चार दिनों के समारोहों से चिह्नित होता है, जो अपनी प्रतिभा के साथ हमारी धरती को रोशन करता है और हर किसी को अपनी खुशी के साथ प्रभावित करता है।
दीवाली या लोकप्रिय रूप से दीपावली के नाम से जाना जाने वाला यह त्योहार भारत में सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है। दीवाली दुनिया भर में रोशनी का एक भारतीय त्योहार, चमकदार प्रदर्शन, प्रार्थना और उत्सवपूर्ण त्योहार है।
दीपावली हर भारतीय परिवार में मनाया जाता है। दीवाली का जश्न एक सप्ताह के लिए मनाया जाता है, प्रत्येक दिन अलग-अलग समारोह होते हैं।
चार दिन की दीवाली के उत्सव को विभिन्न परंपराओं से चिह्नित किया गया है, लेकिन जीवन का उत्सव, उत्साह, आनंद और भलाई स्थिर रहती है। दीवाली को इसके आध्यात्मिक महत्व के लिए मनाया जाता है, जो अंधेरे पर रोशनी की विजय का प्रतीक है, बुराई पर अच्छाई की जीत, अज्ञानता पर ज्ञान और निराशा की उम्मीद है।
इस साल यानी 2019 में 27 अक्टूबर को दीपों का त्योहार दिवाली है. समृद्धि और खुशियों के इस त्योहार को लोग बड़ी धूमधाम से मनाते हैं. इस दिन लोग लक्ष्मी माता, गणेश जी और धन के देवता कुबेर की पूजा-अर्चना करते हैं. इस साल दिवाली 2019 लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 7:15 से 8:36 तक का है.
Diwali 2019 Date:- अमावस्या तिथि पर मनाई जाती है दीपावली।
हर साल कार्तिक मास की अमावस्या तिथि पर दीपावली मनाई जाती है।27 अक्टूबर की सुबह रूप चतुर्दशी रहेगी और शाम को कार्तिक मास की अमावस्या तिथि में महालक्ष्मी पूजा होगी। 28 अक्टूबर को सूर्योदय काल तक अमावस्या रहेगी। 28 तारीख की सुबह 9.08 बजे के बाद कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि रहेगी, इस दिनगोवर्धन पूजा और अन्नकूट महोत्सव मनाया जाएगा।29 अक्टूबर को भाई दूज का पर्व मनाई जाएगी।

रात में की जाती है लक्ष्मी पूजा

दीपावली पर रात में लक्ष्मी पूजा करना ज्यादा शुभ माना जाता है। इस वजह से अधिकतर लोग देर रात लक्ष्मी पूजा करते हैं। इस संबंध में मान्यता है कि जो लोग दीपावली की रात जागकर लक्ष्मी पूजा करते हैं, उनके घर में देवी लक्ष्मी का आगमन होता है और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।